समर्थक

हेडलाइंस.........

LATEST:


रविवार, 13 फ़रवरी 2011

"मोबाइल " एक स्टाइल , .....ओम कश्यप


´¨`':.ﻶﻉ.:' ´¨`ΞΞΞΞΞΞΞ´ ¨`':.ﻶﻉ.:' ´¨`

"मोबाइल " जिसके हाथ में हे देखो उसका स्टाइल ,

अजब इनका नखरा गजब इनकी शान !
अब देखो मोबाइल की पहचान ,
संगीत यंत्रों की ले ली हे जान !
बनने लगा यहाँ वीडियो-कम- कैमरा ,
फोटो ग्राफर कहे कम हो गया व्यापार मेरा !
अब शुरू हो गया बहुत बड़ा वार ,
टी.वी. और कंप्यूटर पर भी किया अत्याचार !
"मोबाइल " जिसके हाथ में हे देखो उसका स्टाइल ,
२ जी में हो गया देश का सर्वोच्च घोटाला !
बाज़ार में अब हे ३ जी का बोलबाला ,
आओ देखो आगे इसकी और भी हे शान !
कुछ समझते इसको ही पहचान ,
जिधर जाओ एक ही नज़ारा हें !
इस कंपनी का मोबाइल हमारा हें ,
इसमें ये हें सुविधा यह हें खुबिया !
अपने के आगे नज़र आती सब में कमियां ,
इस से सिमट जाती ही दुरिया !
"मोबाइल " जिसके हाथ में हे देखो उसका स्टाइल ,
अब याद बन गयी चिठ्ठी -पत्र लगे दूर की बात !
छोटे -छोटे S M S से ही बन जाती बात ,
कुछ तो दीवाने इसमें ऐसे हुए मदहोश !
कानो से चिपका रहता लगे न कोई दोष ,
"मोबाइल " जिसके हाथ में हे देखो उसका स्टाइल ,
इसके दीवाने परवाह नहीं किसी बात की करते !
जेबे ढीली कर इसका बिल पे करते ,
घर थोडा सामान न ले जाये इस महंगाई में !
ज्यादा खर्चते मोबाइल की भरपाई में ,
"मोबाइल " जिसके हाथ में हे देखो उसका स्टाइल ,
दोस्तों यहाँ नहीं कोई अपवाद !
अगर कम से कम हो सवाद ,
हद से जयादा न करो उपयोग !
ज्यादा न करो पैसा बर्बाद ,
ऐसा दिन कभी न आये !
बिन मोबाइल के रहा न जाये !!!

ΞΞΞΞΞΞΞΞΞΞ´¨`':.ﻶﻉ.:' ´¨`ΞΞΞΞΞΞΞΞΞΞ

चित्र :- ( गूगल से साभार )


32 टिप्‍पणियां:

  1. जीवन के हर रंग का हिस्सा है मोबाईल .....

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपनी भावनाओ को अच्छे शब्द दिये है आपने
    शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  3. सब जानते है मोबाईल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है लेकिन आज के समय मे मोबाईल के बिना काम भी तो नही चलता

    उत्तर देंहटाएं
  4. जिन्दगी और परिवेश का अहम् हिस्सा है मोबाइल

    उत्तर देंहटाएं
  5. मोबाइल नियरे राखिये
    बिनु मोबाइल सब सून

    उत्तर देंहटाएं
  6. सब जानते है.....बिनु मोबाइल सब सून
    "ला-जवाब" जबर्दस्त!!
    .......शब्दों को चुन-चुन कर तराशा है आपने ...प्रशंसनीय रचना।

    उत्तर देंहटाएं
  7. ग़ज़ब ....... कोई बार सोचता हूँ इतना अच्छा कैसे लिखा जाता है

    उत्तर देंहटाएं
  8. मोबाइल की हानि से परिचित होते हुए भी इसकी अपरिहार्यता टाली नहीं जाती.......................फिर भी आपने अच्छी बात लिखी कविता में




    डॉ. दिव्या श्रीवास्तव ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर किया पौधारोपण
    डॉ. दिव्या श्रीवास्तव जी ने विवाह की वर्षगाँठ के अवसर पर तुलसी एवं गुलाब का रोपण किया है। उनका यह महत्त्वपूर्ण योगदान उनके प्रकृति के प्रति संवेदनशीलता, जागरूकता एवं समर्पण को दर्शाता है। वे एक सक्रिय ब्लॉग लेखिका, एक डॉक्टर, के साथ- साथ प्रकृति-संरक्षण के पुनीत कार्य के प्रति भी समर्पित हैं।
    “वृक्षारोपण : एक कदम प्रकृति की ओर” एवं पूरे ब्लॉग परिवार की ओर से दिव्या जी एवं समीर जीको स्वाभिमान, सुख, शान्ति, स्वास्थ्य एवं समृद्धि के पञ्चामृत से पूरित मधुर एवं प्रेममय वैवाहिक जीवन के लिये हार्दिक शुभकामनायें।

    आप भी इस पावन कार्य में अपना सहयोग दें।


    http://vriksharopan.blogspot.com/2011/02/blog-post.html

    उत्तर देंहटाएं
  9. ऐसा दिन कभी न आये !
    बिन मोबाइल के रहा न जाये !!

    -अब लगता है देर हो गई सीख देने में. :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. पहले ए जी ओ जी होते थे,
    अब 2 जी और 3 जी, धन्य लीला है मोबाईल की भी।

    उत्तर देंहटाएं
  11. dr. monika ji
    deepak ji
    kewal ram ji
    kajal kumar ji
    or sanjay ji
    aapka bahut bahut dhanaywad
    aapka aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  12. sameer ji
    varksharopan ji
    or sanjay @ mo sam ji
    aapka bahut bahut dhanaywad
    aabhar .
    margdharshan karte rahiye ji

    उत्तर देंहटाएं
  13. सही कहा जी आज कल तो बिना मोबाईल सोच भी नही सकते

    उत्तर देंहटाएं
  14. सही कहा भैया आजकल मोबाइल स्टाइल बन गया है!
    खूबसूरत रचना भाई जी!

    उत्तर देंहटाएं
  15. अच्छी लगी रचना। तस्वीर ने मन मोह लिया। शुभकामनाए।

    उत्तर देंहटाएं
  16. अच्छा लिखा । शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  17. मोबाइल स्टाइल बन गया है!

    उत्तर देंहटाएं
  18. ओम कश्यप जी ,

    आपने मोबाईल के नाज़-नखरों के साथ-साथ अपनी रचना में हिदायतें भी दी हैं |

    अच्छा लगा

    उत्तर देंहटाएं
  19. मोबाइल.......
    भई वाह गजब है इनकी शान...
    ऐसा दिन कभी न आये,
    बिन मोबाइल के रहा न जाये !
    धन्य हैं मोबाइल जी...

    उत्तर देंहटाएं
  20. प्रेमदिवस की शुभकामनाये !

    उत्तर देंहटाएं
  21. सीधे-सीधे शब्दों में सही बात

    उत्तर देंहटाएं
  22. अब मोबाईल कहाँ छूटेगा ॐ भाई .
    सुन्दर रचना.
    सलाम.

    उत्तर देंहटाएं
  23. RAJ JI
    SUREDRA JI
    EHSAAS JI
    NIVEDITA JI
    OR
    PREETI JI
    AAP SABHI KA BAHUT BAHUT AABHAR

    उत्तर देंहटाएं
  24. SURENDRA JI
    SANDHYA JI
    SANJAY JI
    RAKESH JI
    OR
    SAGEBOB JI
    SUKRIYA
    AAP SABHI KA BAHUT BAHUT AABHAR

    उत्तर देंहटाएं
  25. हास्य-व्यंग्य के साथ हकीकत बयान करती अच्छी कविता. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  26. अब देखो मोबाइल की पहचान
    beautiful poem

    उत्तर देंहटाएं
  27. मोबाइल का अत्यधिक उपयोग कई तरीकों से नुकसानदायक है । प्रेरक प्रस्तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  28. bouth he aacha post hai aapka... nice blog

    Keep Visit my Blog Plz... :D
    Lyrics Mantra
    Music Bol

    उत्तर देंहटाएं
  29. Swarajya karun JI
    Sm ji
    ZEAL JI
    or
    Manpreet Kaur ji
    aap saBhi ka bahut bahut dhanywaad
    aabhar...

    उत्तर देंहटाएं
  30. मोबाइल स्टाइल ..........हकीकत है

    उत्तर देंहटाएं
  31. कुछ तो दीवाने इसमें ऐसे हुए मदहोश !
    कानो से चिपका रहता लगे न कोई दोष ,

    ab to yahi style hai aur life bhi...
    kya kariyega.....kuchh ki to mazboori bhi hai !!
    lekin ekdam sateek rachna !!

    उत्तर देंहटाएं