समर्थक

हेडलाइंस.........

LATEST:


रविवार, 27 फ़रवरी 2011

वक़्त की रफ़्तार ... ओम कश्यप.








चित्र :-
( गूगल से साभार )

वक़्त की रफ़्तार चलती ही रहेगी ,

चाहे कर लोचिजितनी भी तकरार !

कभी अपनों का बिछुड़ना, कभी गेरों का प्यार ,

किसी का जाना तो किसी का इंतज़ार !

चलती ही रहेगी वक़्त की रफ़्तार ,

गमो का सागर हो या खुशियों की बोछार !

चाहे जितनी भी तेज़ हो रफ़्तार ,

सपनो की दुनिया हो या हकीकत का संसार !

गम-ऐ-ज़िन्दगी हो या यादों का संसार ,

चलती ही रहेगी वक़्त की रफ़्तार ,

कही सास-बहु के झगडे कही पर तकरार !

अजीब हे ये मंजर गहराई का समंदर ,

कोई है बाहर तो कोई है अन्दर !

आना -जाना लगा है लगा ही रहेगा ,

वक़्त का पहिया चलता ही रहेगा !

सोच-समझकर गलत न करो जान बुझकर ,

सब को पता है गलत करते आँख मूंदकर !

फिर न जाने कितने बन जाते है स्टार ,

वाह री वक़्त की रफ़्तार !

वाह री वक़्त की रफ़्तार !!

वक़्त के बारे में लिखना है सूरज को दिया दिखाना है !

वक़्त की रफ़्तार और मार को हर किसी ने माना है!!


34 टिप्‍पणियां:

  1. bhtrin rchnaatmk sikh den valai rchnaa mubark ho. akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  2. आना -जाना लगा है लगा ही रहेगा ,
    वक़्त का पहिया चलता ही रहेगा...

    हाँ..यही अटल सत्य है, वक़्त किसी के भी लिए ना रुका है, ना रुकेगा..सुन्दर प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  3. वक़्त की हर शय गुलाम , वक्त का हर शय पे राज़ !
    Time never stops . It just moves on and on and on....

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सत्य कहा आपने
    वक्त से बडी ना चीज कोई

    उत्तर देंहटाएं
  5. वक्त से बड़ा कोई जल्लाद भी नहीं, और वक्त से बड़ा कोई चारागर भी नहीं।

    उत्तर देंहटाएं
  6. वक्त ही सबसे बडी सच्चाई है
    शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  7. ”सोच-समझकर गलत न करो जान बुझकर’ ---सुन्दर सत्य भाव...

    उत्तर देंहटाएं
  8. वक़्त के बारे में लिखना है सूरज को दिया दिखाना है !

    वक़्त की रफ़्तार और मार को हर किसी ने माना है||

    वक़्त का पहिया चलता ही रहेगा.. vaah vaah

    उत्तर देंहटाएं
  9. हम वक़्त के पीछे भागते हैं और लम्हों को भूल जाते हैं.. जिनसे वक़्त बना है.. लम्हों को जीना सीख लें तो वक़्त को ग़ुलाम बनाया जा सकता है..

    उत्तर देंहटाएं
  10. आना -जाना लगा है लगा ही रहेगा ,
    वक़्त का पहिया चलता ही रहेगा...

    सटीक भी सच भी..... बहुत सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
  11. शाश्वत सत्य.
    आशीष
    --
    लम्हा!!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. वक़्त का पहिया चलता ही रहेगा.....कश्यप भाई
    हकीकत है

    उत्तर देंहटाएं
  13. एकदम सत्य है, वक़्त किसी के भी लिए ना रुका है, ना रुकेगा..
    बहुत देर से पहुँच पाया ....माफी चाहता हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  14. वक्त की हर शै गुलाम, वक्त का पर शै पे राज.

    उत्तर देंहटाएं
  15. प्रिय भाई ॐ कश्यप जी '

    बहुत अच्छे ढंग से आपने समय की शाश्वत गति का शब्द चित्रण किया है | भाव और प्रस्तुतीकरण दोनों सुन्दर |

    उत्तर देंहटाएं
  16. हकीकत से रूबरू कराती बहुत सुन्दर रचना|

    उत्तर देंहटाएं
  17. AAP SABHI KO MAHASHIVRATRI KI SUBHKAMNAYE..
    AAP SABHI KA AABHAR..
    DHANAYWAD

    उत्तर देंहटाएं
  18. वाह ...बहुत ही खूबसूरत प्रस्‍तुति ...मेरे ब्‍लाग पर आपके प्रोत्‍साहन के लिये बहुत-बहुत आभारी हूं ...।

    उत्तर देंहटाएं
  19. वक़्त के बारे में लिखना है सूरज को दिया दिखाना है !
    वक़्त की रफ़्तार और मार को हर किसी ने माना है!!
    ये वक्त भी क्या चीज़ है कभी हाथ नही आता। अच्छी रचना के लिये बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  20. waqt to rukta nahin hai,
    waqt kabhi bhi jhukta nahi hai,
    waqt se lar kar bhala kab
    kaun jeeta hai yahan par...
    martya manav waqt se ,
    lar kar hua harwaqt nashwar...

    Bahut sundar aur soch se bhari rachna.Badhayee

    उत्तर देंहटाएं
  21. सच में दोस्त वक़्त न कभी किसी के लिए रुका है और न ही कभी रुकेगा हमे ही इससे कदम मिलकर चलना होगा |
    हर ख़ुशी है लोगों के दामन में ,
    पर एक हंसी के लिए वक़्त नहीं |
    दिन रात दौड़ती दुनिया में ,
    जिंदगी के लिए ही वक़्त नहीं |
    बहुत खुबसूरत रचना |

    उत्तर देंहटाएं
  22. ***महाशिवरात्रि के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं***

    उत्तर देंहटाएं
  23. AAP SABHI KA BAHUT BAHUT DHANYWAAD
    AABHAR
    KRPYA MARGDARSHAN KARTE RAHIYE

    उत्तर देंहटाएं
  24. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  25. Boss Really You Are Grate.
    I Read Your Blog after reading your blog i am Your Fan.

    Regards
    Rajendra Singh Nagie
    Sub Editor
    Meerut Report, Meerut(UP)
    &
    Treasurer
    Prafati Vigyan Sanstha, Meerut(UP)
    Blog: http://rsnagie.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  26. WAKT WAKT KI BAAT HAI OM BHAI. TIME KE BARE ME APNE JO BTAYA HAI, KAABIL E TAARIF HAI.

    उत्तर देंहटाएं
  27. APKI KALAM UHI CHALTI RAHE, OR HAR BAR HUMKO EK NAYI RACHNA MILTI RAHE.

    उत्तर देंहटाएं