समर्थक

हेडलाइंस.........

LATEST:


गुरुवार, 17 मार्च 2011

सुना आँगन .....ओम कश्यप


आग लगी तन-मन पिया आन मिलो आँगन ,

सुना आज आँगन बिन तेरे मोरे साजन !

कुछ तो दे दो आने की खबरिया ,

दिल तडपे ऐसे जैसे बिन पानी के मछलिया !

ऐसी मुश्किल में कौन आये काम राम जाने ,

दिल को क्या सूझत है दिल ही जाने !

नैना भर आये जब भी पिया याद आये ,

साजन की याद तो पल-पल सताये !

कही हम न हो जाये बदनाम ,

कब होगा पिया से मिलना मेरे राम !

तीर तुमने चलाया दिल मेरा बना निशाना ,

पिया तुमने मेरे प्यार को नहीं जाना !

बना लो चाहे तुम कुछ भी बहाना ,

बिन तेरे हमको जीना नहीं चाहे पड़े मर जाना !

मर जायेंगे तेरे दीवाने शान से ,

हसर में फिर मिलेंगे आराम से !

आग लगी तन-मन पिया आन मिलो आँगन ,

सुना आज आँगन बिन तेरे मोरे साजन !!



♥♪♥OM . KASHYAP ♥♪♥

33 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी लगन है पिया मिलन की
    विरह वेदना का सुन्दर वर्णन

    उत्तर देंहटाएं
  2. !! होली की शुभकामनाये!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. आग लगी तन-मन पिया आन मिलो आँगन ,
    xxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxxx
    मर जायेंगे तेरे दीवाने शान से ,
    होली के रंगों के साथ तो विरह का रंग भी बहुत चढ़ रहा है भाई ..काफी समर्पण की बातें कर रहे हो ..पर क्या करें जानता हूँ आपकी मनोदशा को ..पर भाई संभल कर .....कल मिलने आयेंगे आपके चाहने वाले आपके अंगना में ..बीते पल की यादों के साथ

    उत्तर देंहटाएं
  4. आग लगी तन-मन पिया आन मिलो आँगन ,

    सुना आज आँगन बिन तेरे मोरे साजन !!..

    Beautiful expression .

    .

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर रचना!
    होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत ही खूबसूरती से बिरह को शब्दोँ मेँ अभिव्यक्त किया है । आभार ओम कश्यप भाई ।

    " दो पल ना रूके वो हमेँ मुदद्तोँ से इंतजार था..........गजल "

    उत्तर देंहटाएं
  7. विरह वेदना और प्रेम के सुंदर भाव लिए रचना ...... बहुत बढ़िया

    उत्तर देंहटाएं
  8. होली की हार्दिक शुभकामनायें ..... हैप्पी होली

    उत्तर देंहटाएं
  9. भाई ओम कश्यप जी होली की रंगभरी शुभकामनाएं |

    उत्तर देंहटाएं
  10. विरह वेदना का चित्रण्।

    उत्तर देंहटाएं
  11. रंग के त्यौहार में
    सभी रंगों की हो भरमार
    ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार
    यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।
    होली मुबारक।

    उत्तर देंहटाएं
  12. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद आभार ...

    उत्तर देंहटाएं
  13. आप सभी को होली की हार्दिक शुभकामनाये

    उत्तर देंहटाएं
  14. लोकभाषा का पुट लिए सुन्दर प्रेम-विरह गीत ...

    होली की हार्दिक शुभकामनायें ..

    उत्तर देंहटाएं
  15. bahut khubsurat rachna
    आपको परिवार- सहित होली की बहुत - बहुत बधाई दोस्त |

    उत्तर देंहटाएं
  16. खूबसूरती से बिरह को शब्दोँ मेँ अभिव्यक्त किया है.....कश्यप भाई ।

    उत्तर देंहटाएं
  17. रंगों का त्यौहार बहुत मुबारक हो आपको और आपके परिवार को|
    कई दिनों व्यस्त होने के कारण  ब्लॉग पर नहीं आ सका

    उत्तर देंहटाएं
  18. वाह ! कश्यप भाई
    इस कविता का तो जवाब नहीं !
    विचारों के इतनी गहन अनुभूतियों को सटीक शब्द देना सबके बस की बात नहीं है !

    उत्तर देंहटाएं
  19. होली के शुभ अवसर पर हार्दिक शुभ कामनाएं |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  20. होली पर शुभकामनायें स्वीकार करें !!

    उत्तर देंहटाएं
  21. आप को सपरिवार होली की हार्दिक शुभ कामनाएं.

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  22. आग लगी तन-मन पिया आन मिलो आँगन ,

    सुना आज आँगन बिन तेरे मोरे साजन !!..
    holi parv ki dhero badhai ,aaj to sajan angana laut hi aayenge aangan rango ko bharne .sundar rachna .

    उत्तर देंहटाएं
  23. होली की शुभकामनायें.....

    उत्तर देंहटाएं
  24. होली की हार्दिक शुभकामनायें ..

    उत्तर देंहटाएं
  25. प्रिय ओम कश्यप जी

    रंग भरा स्नेह भरा अभिवादन !

    बहुत मनभावन है आपकी रचना … पढ़ कर आनन्द आया ।

    आपको सपरिवार होली की हार्दिक बधाई !


    ♥ होली की शुभकामनाएं ! मंगलकामनाएं !♥

    होली ऐसी खेलिए , प्रेम का हो विस्तार !
    मरुथल मन में बह उठे शीतल जल की धार !!


    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  26. बहुत सुंदर रचना है जी !हवे अ गुड डे ! मेरे ब्लॉग पर आये !
    Music Bol
    Lyrics Mantra
    Shayari Dil Se
    Latest News About Tech

    उत्तर देंहटाएं
  27. KUCH TO DE DO AANE KI KHABRIYA.... BAHUT PYARI RACHNA HAI OM BHAI.

    उत्तर देंहटाएं